Proud to be an Indian

Proud to be an Indian

Most Commented

Recent Post

Share

Bookmark and Share

Subscribe

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Suggestions

Wednesday, August 19, 2009

एक बात कहूँ


दोस्तों एक बात कहूँ
सोचता हूँ कैसे कहूँ
चलो बात की बात से कहता हूँ
एक बात ही दिल तोड़ देती है
एक बात ही दिल जोड़ देती है
अरे यह बात तो बात है,
एक बात ही जीवन मोड़ देती है

दोस्तों एक बात कहूँ
सोचता हूँ कैसे कहूँ
चलो बात की बात से कहता हूँ
बात निकलेगी तो फिर दूर तक जायेगी
बात न निकले तो फिर अपना पता पूछेगी
बात का मतलब हो या ना हो बात ही कहलाएगी
अरे यह बात तो बात है ,
बस एक बात ही तो याद रह जायेगी

दोस्तों एक बात कहूँ
सोचता हूँ कैसे कहूँ
चलो बात की बात से कहता हूँ
जीवन में कई बातो का आना होगा
एक वह बात और पीछे सारा ज़माना होगा
तुम ज़माने की बातो से मतलब ना रखना
बात कैसी भी हो हर हाल में खुश रहना


रचयिता:"रजनीश शुक्ला, रीवा (म. प्र.)"

10 comments:

RUPAK_REWA said...
This comment has been removed by the author.
RUPAK_REWA said...

I remember you gave me hand written version of this poem few months back, i have it safe in my collection, :-)

रचना गौड़ ’भारती’ said...

भई आपकी ये एक बात तो हमें बहुत पसन्द आयी। अब एक बात हमारी भी मानिए और झट्पट हमारा ब्लोग देखिए।

विपिन बिहारी गोयल said...

बहुत बढ़िया ...स्वागत है...

कमलेश शर्मा said...

nice....lge rho....

चंदन कुमार झा said...

चिट्ठाजगत में आपका स्वागत है.......भविष्य के लिये ढेर सारी शुभकामनायें.

गुलमोहर का फूल

sanjaygrover said...

हुज़ूर आपका भी एहतिराम करता चलूं.........
इधर से गुज़रा था, सोचा, सलाम करता चलूं....

नारदमुनि said...

narayan narayan

क्रिएटिव मंच said...

आपका स्वागत है
आपको पढ़कर अच्छा लगा
शुभकामनाएं


*********************************
प्रत्येक बुधवार सुबह 9.00 बजे बनिए
चैम्पियन C.M. Quiz में |
प्रत्येक रविवार सुबह 9.00 बजे शामिल
होईये ठहाका एक्सप्रेस में |
प्रत्येक शुक्रवार सुबह 9.00 बजे पढिये
साहित्यिक उत्कृष्ट रचनाएं
*********************************
क्रियेटिव मंच

rishabh said...

दोस्तों एक बात कहू .....बहुत अच्छी कविता है !
मुझे बहुत पसंद आई !

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...